ads

Breaking News

परमाणु हमले से कैसे बचे ? परमाणु बम से बचने के लिए नुस्खे


परमाणु हमले (nucler attack) से कैसे बचे ?


पिछले कई दिनों से हम परमाणु हमला और परमाणु बम के बारे में सुनते आ रहे हैं। और सभी के मन में भी यह बात आती है कि इस परमाणु हमले से किसी भी इंसान की जान नहीं बच सकती यह बहुत ही विनाशकारी हमला होता है।परमाणु हमला कितना खतरनाक, विनाशकारी और भयंकर हो सकता है इस बात का जीता जागता सबूत जापान के हिरोशिमा और नागासाकी है। जहां आज के दिनों में भी परमाणु बम हमले की असर देखा जा सकता है




परमाणु बम की खोप का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 1945 में हुए एकलौते परमाणु हमले में 6 सालों तक चले द्वितीय विश्व योद्धा को आनन-फानन में ही खत्म कर दिया था। और दोस्तों आपको बता दें यह परमाणु बम के खोप का ही असर है कि 1945 के बाद आज तक कोई भी बड़ा विश्व युद्ध नहीं हुआ है। लेकिन भविष्य में परमाणु बम हमले ना हो इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता। इसीलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अगर परमाणु हमला हो तो कैसे खुद का बचाव कर सकते हो।

आपने आज तक जितने भी परमाणु विस्फोट से जुड़ी तस्वीरें देखे होंगे उसमें आपने देखा होगा कि यह विस्फोटक एक मशरूम के गुब्बारे की तरह निकलता है और इस से निकलने वाली रेडिएशन धरती को छूने से पहले ही तबाही का मंजल दिखाना शुरू कर देता है।

परमाणु बम (nuclear bomb) से बचने के लिए नुस्खे

परमाणु बम के हमले से बचने के लिए जो पहला कदम आपको उठाना चाहिए। वह यह है कि अगर हमारे देश के साथ किसी दुश्मन देश का युद्ध छिड़ जाए और आपको ऐसा लगे कि दुश्मन देश परमाणु हमला कर सकता है। तो सबसे पहले तो अगर आप घने आबादी वाले क्षेत्र मशलन दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु जैसे शहरों में रहते हो तो तुरंत आप इन शहरों को छोड़कर किसी छोटे शहर या फिर किसी गांव अपने रिश्तेदार के घर चले जाएं। क्योंकि इतना तो तय है जब भी परमाणु हमला होगा किसी बड़े शहर पर ही होगा। क्योंकि दुश्मन देश हर संभव कोशिश करेगा कि ज्यादा से ज्यादा नुकसान हो।

फिर भी यदि आप परमाणु हमला होने से पहले निकल नहीं पाए हैं तो। कभी भी उसके केंद्र को अपनी आंखों से ना देखें और भगवान को याद करने लगे। क्योंकि आपको सिर्फ और सिर्फ भगवानी ही इस मुसीबत की घड़ी में बचा सकते हैं। अगर भगवान आपको नहीं बचाते हैं तो आपको मरना तय है।

दुनिया के कई बड़े देश आजकल परमाणु हमले से बचने के लिए ऐसे शेल्टर होम बना रहे हैं जिन पर परमाणु बम बेअसर साबित होंगे। लेकिन भारत में ऐसे सेंटर नहीं है। ऐसे में अगर आपके शहर में अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन है तो हमले के दौरान वह आपके लिए जीवनदान साबित हो सकता है। क्योंकि अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन मजबूत चट्टानों से बना होता है और अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन के पास यह क्षमता होता है कि वह परमाणु बम को बेअसर साबित कर सके।

यदि परमाणु बम आपके लोकेशन के 5 किलोमीटर के अंदर गिराया गया है। तो आप किसी भी तरह अपने आप को नहीं बचा सकते। अगर परमाणु हमले से आपके लोकेशन 5 किलोमीटर से ज्यादा है तो आप बच सकते हो। धमाका सुनाई देने के बाद यदि आपके आस पास कोई बेसमेंट है तो वहां जाकर आप छुप जाओ। ।क्योंकि उसके बाद एक और जोरदार धमाका सुनाई देगा जो बहुद ही विनाशकारी होगा।

जिस बेसमेंट में आप छुपे हो उस बेसमेंट से 25 दिनों तक आप बाहर ना निकलो। क्योंकि बाहर हानिकारक रेडिएशन हर तरफ फैला होगा। इस दौरान जितना हो सके कम खाएं और कोशिश करें ज्यादातर समय सोकर गुजारे और हिम्मत कभी भी ना हारे।

हमले के दो से तीन दिन के बाद आपको बुखार, उल्टी और सिरदर्द की समस्या हो सकता है। परमाणु हमले के 5 से 7 दिन के अंदर मदद करने के लिए राहत और बचाव काम में जुटे जवान पहुंच जाएंगे। यदि कोई मदद आप तक नहीं पहुंच पता है तो आप 25 दिन के बाद बाहर निकले। जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी आप राहत शिविरों में पहुंचने की कोशिश करें।यह थे परमाणु हमले से बचने के उपाय।

No comments