ads

Breaking News

ससुर को कमरे में खाना खिलाने पहुंची बहु मगर अंदर का नज़ारा देख कर पति और सास के उड़े होश

आमतौर पर घरों में सास और बहू के बीच लड़ाई तो हुआ करती है परंतु हाल के दिनों में ही एक ऐसी घटना लोगों के सामने आई है। जहां एक महिला ने ऐसा खौफनाक कदम उठाया कि उसके उस कदम से उसके घर के परिवार की खुशियों पर ग्रहण लग गया। इस घटना के सामने आने के बाद उस पूरे क्षेत्र में इस गाना से जुड़ी बातें लोगों के बीच आज चर्चा का एक विषय बन चुकी है। ऐसा बताया जा रहा है कि एक महिला ने अपने ससुर के साथ हुए एक विवाद की वजह से अपने परिवार वालों के सामने ही कर दिया कुछ ऐसा कि जिसे देखने के बाद हर कोई हैरान रह गया। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर उस महिला ने ऐसा क्या किया तो चलिए बताते हैं आपको इस घटना के बारे में विस्तार से।

मिल रही जानकारी के मुताबिक ऐसा बताया जा रहा है कि यह घटना मऊ थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली बेलहा गांव की है। जहां के रहने वाले रघुवर उसके घर बीते दिनों रामचरितमानस के पाठ का आयोजन किया गया था। रामचरितमानस के पाठ के आयोजन के बाद जब भंडारे का कार्यक्रम होना था उसी दौरान एक ऐसी घटना घटी जिसने परिवार के हर एक सदस्य को स्तब्ध कर दिया। परिवार वालों के मुताबिक उनके परिवार में मौजूद भाइयों के बीच जमीन जायदाद को लेकर काफी लंबे वक्त से विवाद चल रहा था। आए दिन होने वाले इस विवाद की वजह से इसका बुरा प्रभाव घर में रहने वाली महिलाओं के ऊपर भी पड़ता था।

ससुर को कमरे में खाना खिलाने पहुंची बहु मगर अंदर का नज़ारा.....

बार बार होने वाली लड़ाई झगड़े से परेशान होने के बाद एक दिन जब रामचरित मानस पाठ का आयोजन हुआ था। उस दौरान रघुवंश की पत्नी कमला देवी अपने घर के बगल में रहने वाले अपने सास और ससुर के पास भंडारे में चलने के लिए बुलाने गई थी। ऐसा बताया जा रहा है कि भंडारे में चलने के लिए बुलाए जाने के बाद उनके सास और ससुर ने उनके साथ जाने से मना कर दिया। मना करने के बाद इस बात को लेकर एक बार फिर से विवाद खड़ा हो गया। विवाद होता देख रघुवंश की पत्नी कमला देवी ने पास में ही मौजूद कुएं में छलांग लगा दी। कुएं में छलांग लगाता देख उनकी सास और उनके ससुर के चीख निकल गए।

माता पिता के द्वारा चीख पुकार सुनने के बाद रघुवंश अन्य ग्रामीणों के साथ उसकी मां की तरफ दौड़े। कुएं के पास पहुंचने के बाद ग्रामीणों के मदद से उन्होंने अपनी पत्नी को उसमें से बाहर निकाला। परंतु कुएं से बाहर निकाले जाने तक काफी देर हो चुकी थी। बताया जा रहा है कि कुएं से बाहर निकालने के दौरान ही महिला की जान चली गई। महिला की मौ*त हो जाने के बाद उनके परिजनों के बीच कोहराम मच गया। मृतिका के पति रघुवंश की माने तो उन्होंने अपने माता पिता को भंडारे में बुलाने के लिए अपनी पत्नी को भेजा था।

परंतु उनके द्वारा मना किए जाने के बाद उनकी पत्नी इतनी ज्यादा निराश हो गई थी कि उन्होंने इस तरह के आत्मघाती कदम को उठाने से भी परहेज नहीं किया। आपको बता दें कि मृतिका के दो पुत्र और दो छोटी छोटी बेटियां हैं जिनका अब रो रो कर बुरा हाल है। वहां के थानाध्यक्ष की माने तो प्रथम दृष्टया में यह मामला पारिवारिक विवाद का नजर आता है परंतु इस मामले की पूरी जांच करने के बाद ही इस घटना के पीछे की पूरी सच्चाई के बारे में पता चल सकेगा।

No comments